एफपीआई, ज्यूपिटर इंडिया फंड की हिस्सेदारी टेस्टी बाइट ईटेबल्स लिमिटेड के मार्च 20 तिमाही में बढ़ गई

Tasty Bite logo

टेस्टी बाइट ईटेबल्स लिमिटेड एक खाद्य विनिर्माण कंपनी है, जो जमे हुए (पहले से तैयार) खाद्य उत्पादों की ओर विशेष है, और सार्वजनिक शेयरधारकों के माध्यम से इसका 25.77% हिस्सा है। अन्य 74.23% प्रमोटर और प्रमोटर समूह की श्रेणी में हैं। दिसंबर 2019 तिमाही और मार्च 2020 तिमाही के शेयरहोल्डिंग पैटर्न की तुलना करने पर, निम्नलिखित रुझान देखे गए हैं:

सार्वजनिक हिस्सेदारी % में वृद्धि:

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की कुल हिस्सेदारी 3.41% से बढ़कर 3.56% हो गई। जुपिटर इंडिया फंड, जो विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के अंतर्गत आता है, 2.58% से बढ़कर 2.91% हो गया। मुकुल महावीर प्रसाद अग्रवाल , 2 लाख रुपये से अधिक की व्यक्तिगत शेयर पूंजी रखते हुए, 1.17% से 1.29% तक चढ़ गया। क्लियरिंग सदस्यों में 0.01% से 0.05% तक सुधार हुआ। निकाय कॉर्पोरेट 0.52% से 1.08% तक बढ़ा। वैकल्पिक निवेश कोष का एक हिस्सा, सुन्दरम इंडिया प्राइमरी फंड, की हिस्सेदारी मार्च 2020 की तिमाही में  0.92% से बढ़कर 1.09% हो गई।

सार्वजनिक हिस्सेदारी % में कमी:

वित्तीय संस्थानों / बैंकों ने 0.06% से 0.05% तक हिस्सेदारी कम की । 2 लाख रुपये तक की व्यक्तिगत शेयर पूंजी वाले शेयरधारकों की संख्या दिसंबर 2019 की तिमाही में 4,650 से बढ़कर मार्च में 5,500 हो गई, लेकिन इसकी शेयरधारिता 13.15% से घटकर 12.60% रह गई। कुल 4 शेयरधारकों के साथ, दोनों तिमाहियों में, 2 लाख रुपये से अधिक की व्यक्तिगत शेयर पूंजी वाले शेयरधारकों की होल्डिंग्स 5.59% से घटकर 5.27% हो गई। राहुल कायन ने हिस्सेदारी को 2.20% से घटाकर 1.76 कर दिया। अनिवासी भारतीय (एनआरआई) शेयरधारकों की संख्या 151 से बढ़कर 189 हो गई, लेकिन होल्डिंग 0.39% से घटकर 0.38% हो गई। आईपीइएफ ने 1.72% से 1.68% तक हिस्सेदारी कम की।

समान(अपरिवर्तित) सार्वजनिक हिस्सेदारी %-

म्यूचुअल फंड, ट्रस्ट, केंद्र सरकार / राज्य सरकार (सरकारें) / भारत के राष्ट्रपति के साथ-साथ गैर-संस्थान दोनों तिमाहियों में 0.00% पर थे। तन्वी जिग्नेश मेहता और प्रसून भट्ट 2 लाख रुपये से अधिक की व्यक्तिगत शेयर पूँजी के साथ 1.17% और 1.05% पर स्थिर थे। 

25.77% पब्लिक शेयरहोल्डिंग और 74.23% प्रमोटर और प्रमोटर ग्रुप शेयरहोल्डिंग अपने संबंधित स्तरों पर बनाए हुए थे। दिसंबर 2019 तिमाही में सार्वजनिक शेयरधारकों की कुल संख्या 4,949 थी, जो मार्च 2020 की तिमाही में बढ़कर 5,879 हो गई। दोनों तिमाहियों के प्रमोटर और प्रमोटर समूह पैटर्न में कोई आंतरिक परिवर्तन नहीं हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here