मार्च 2020 में रिलैक्सो फुटवियर में एनआरआईयों की होल्डिंग कम हो गई है। सौरभ मुखर्जी स्टॉक

Relaxo Footwear logo

रिलैक्सो फुटवियर लिमिटेड का मुख्यालय दिल्ली, भारत में है। यह भारत में फुटवियर की एक विस्तृत श्रृंखला बनाती और बेचती है। कंपनी के 70.98% शेयर  प्रमोटर और प्रमोटर  समूह के माध्यम से आए जबकि शेष 29.02% सार्वजनिक शेयरधारकों के माध्यम से आए। दिसंबर 2019 तिमाही और मार्च 2020 तिमाही के शेयरहोल्डिंग पैटर्न की तुलना करने पर, निम्नलिखित रुझान देखे गए हैं:

सार्वजनिक हिस्सेदारी % में वृद्धि

कुल मिलाकर म्यूचुअल फंड का मूल्य 6.24% से बढ़कर 6.40% हो गया। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक 2.90% से बढ़कर 2.95% हो गए। वित्तीय संस्थानों / बैंकों ने 0.01% से 0.02% तक कदम रखा। 2 लाख रुपये तक की व्यक्तिगत शेयर पूंजी वाले शेयरधारकों की संख्या 36,273 से 66,051 हो गई, साथ ही होल्डिंग 4.85% से बढ़कर 5.31% हो गई। 2 लाख रुपये से अधिक की व्यक्तिगत शेयर पूंजी वाले शेयरधारकों की संख्या 5 से बढ़कर 6 हो गई, जिसमें होल्डिंग 0.82% से बढ़कर 0.86% हो गई। क्लियरिंग सदस्यों 0.05% से बढ़कर 0.12% हो गए। अनिवासी भारतीय गैर प्रत्यावर्तनीय मूल्य 0.37% से 0.39% हो गया।

सार्वजनिक हिस्सेदारी % में कमी

एसबीआई लार्ज और मिडकैप फंड ने इसके भागों को 4.08% से घटाकर 3.98% कर दिया। स्माल कैप वर्ल्ड फंड, इनकारपोरेशन ने बाज़ी 0.30% घटाकर 1.39% से 1.09% कर दी। ट्रस्ट ने होल्डिंग को आधा से घटाकर 0.06% से 0.03% कर दिया। वैकल्पिक निवेश कोष में 0.65% से 0.63% तक की गिरावट दर्ज की गई। अनिवासी भारतीयों का होल्डिंग प्रतिशत 0.32% से घटकर 0.18% हो गया। क्वॉलिफाइड इंस्टीटूशनल बायर मूल्य 0.70% से 0.57% तक गिर जाता है। निकाय कॉर्पोरेट 11.91% से 11.44% तक गिर गया। वीएलएस सिक्योरिटीज लिमिटेड ने 6.57% से 6.56% तक कदम रखा। वीएलएस फाइनेंस लिमिटेड ने दांव को 4.43% से कम करके 4.17% कर दिया।

समान(अपरिवर्तित) सार्वजनिक हिस्सेदारी %


केंद्र सरकार / राज्य सरकार (सरकारें) / भारत के राष्ट्रपति 0.00% और आईईपीएफ 0.12% पर, दिसंबर 2019 की तिमाही के समान दांव बनाये रखे।

प्रमोटर और प्रमोटर समूह का 70.98% पूरी तरह से दुआ परिवार के अधीन था।प्रमोटरों की इस श्रेणी में 12 शेयरधारक थे। दोनों तिमाहियों में यह संख्या स्थिर थी। मार्च तिमाही में सार्वजनिक शेयरधारकों की संख्या 38,190 से बढ़कर 68,561 हो गई।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here